चंद्रयान-2 अभियान आखिरी चरण में असफल,वैज्ञानिकों से प्रधानमंत्री बोले निराश न हों जीवन में उतार-चढ़ाव आते हैं,राष्ट्रपति और राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर वैज्ञानिकों के प्रयासों की करी तारीफ़।

भारत के वैज्ञानिकों की दिन-रात की कड़ी मेहनत चंद्रयान-2 की लेंडिंग के आखिरी चरण में फेल हो गयी। भारत के अब तक के सभी अंतरिक्ष कार्यक्रमो में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण अभियान चंद्रयान-2 को बीती रात बड़ा झटका लग गया है।जब लैंडर चंद्रमा की सतह से केवल 2 किमी दूर था तब अचानक यान के लैंडर “विक्रम” का इसरो के कमांड सेंटर से सम्पर्क टूट गया।

इस दौरान भारत के प्रधानमंत्री भी इसरो के मुख्यालय में उपस्थित थे।इस पर नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं।उन्होंने यह भी कहा कि इस अभियान से भी बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है एवं देश को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है।
वहीँ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी वैज्ञानिकों को हिम्मत बढ़ाई और ट्वीट कर कहा कि ‘देश को इसरो पर गर्व है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर कहा कि ‘आपका काम बेकार नहीं जाएगा।इसने कई बेजोड़ और महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की बुनियाद रखी है।’

admin

Read Previous

ऊत्तराखण्ड:स्वच्छ भारत मिशन में उत्तराखण्ड ने किया नाम रोशन।जीते कुल 7 अवार्ड।

Read Next

बीस सूत्रीय क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष नरेश बंसल ने रुड़की पहुंचकर विभिन्न गणपति महोत्सव कार्यक्रमो में की भगवान गणपति की पूजा,गौरव गोयल भी रहे मौजूद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *